Sri Lanka Crisis: राष्ट्रपति भवन पर प्रदर्शनकारीयों, श्रीलंका का झंडा लहराते प्रदर्शनकार

Sri Lanka Crisis: श्रीलंका में आर्थिक हालात के चलते जनता ने शनिवार को राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास पर कब्जा कर लिया है। खबर है कि राष्ट्रपति अपना आवास छोड़कर भाग निकले हैं। आवास ही नहीं ऐसी खबर है कि वो देश छोड़कर भाग गए है। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर पर घुसकर जमकर तोड़फोड़ कर दी है. उधर जब श्रीलंकाई पुलिस ने रैली के दौरान लोगों को रोकने की कोशिश की तो पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प में करीब 30 लोग घायल हो गए है.

जिसके बाद श्रीलंका में हालात काबू में करने के लिए पार्टी नेताओं की आपात बैठक बुलाई गई है। जिसमें नेताओं ने राष्ट्रपति और पीएम के इस्तीफे की मांग की है। वहीं पीएम ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। आपको बता दें कि 11 मई को तत्कालीन प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे अपने पूरे परिवार के साथ भाग गए थे। उनके भागने के बाद लोगों ने कोलंबो में राजपक्षे के सरकारी आवास को घेर लिया था।

अब शनिवार को प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग करते हुए उनके आवास का घेराव किया है। वहींं आज कुछ प्रदर्शनकारी ने राष्ट्रपति आवास के परिसर में घुस कर तोड़फोड़ कर दी हैा। जिसके बाद सुरक्षाबलों की मदद से लोगों को राष्ट्रपति आवास से बाहर निकाल
गया है। आपको बता दें कि श्रीलंका के एक टीवी चैनल ने एक फुटेज जारी है, जिसमें भीड़ को राष्ट्रपति आवास के अंदर घुसते हुए दिखाया गया है।

प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर कब्जा करके उसके मेन गेट पर चढ़कर बढ़ती महंगाई का विरोध किया है। इस दौरान सुरक्षाबलो ने पानी की बौछारों और आंसू गैस के गोले का इस्तेमाल करके भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की है। जिसमें 30 से ज्यादा लोग घायल हुई गए।

राष्ट्रपति भवन के भीतर स्वीमिंग पूल में भी दिखे प्रदर्शनकारी-

जैसा आप सभी को पता है कि प्रदर्शनकारीयों ने राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया है। जिसके बाद ये प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन के हॉल में, कमरों में, स्विमिंग पूल में भी नहाते नजर आए है। वहीं, एक फुटेज में दिखाया गया है कि नौसेना के जहाज पर गोटबाया का सामान रखा हैं। वहीं राष्ट्रपति भवन में एक प्रदर्शनकारी महिला को देखा गया है जिसके चहरे पर विजय वाली मुस्कान देखने को मिली है।

पीएम रानिल विक्रमसिंघे भी पद छोड़ने को हुए तैयार-

पीएम रानिल विक्रमसिंघे ने एक ऑडियो जारी कर बताया कि वह कुछ शर्तों के साथ पद छोड़ने के लिए तैयार हैं। उन्होंने राष्ट्रपति के सामने एक सर्वदलीय सरकार बनाने का सुझाव रखा है. उन्होंने आगे कहा कि देश में जो इस समय ईंधन और भोजन की कमी की समस्याएं हैं। वो इसके लिए विश्व खाद्य कार्यक्रम के प्रमुख देश का दौरा करेंगे। इसके लिए अंतररष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ बैठक होनी है। इस सरकार का इस्तीफा दिए जाने के तुरंत बाद एक अलग सरकार का गठन किया जाएगा। बिना सरकार के किसी भी प्रशासन का देश का नेतृत्व करना गलत है।

 

 

 

 

Leave a Comment