क्या राहुल द्रविड़ की कोचिंग और जसप्रीत बुमराह की कप्तानी भारत की हार का कारण बनी?

जैसा कि हम सभी जानते हैं भारत की टीम इन दिनों इंग्लैंड के दौरे पर हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज की चार मैच पिछले साल ही खेली जा चुकी थी और उस सीरीज का यह पांचवां मैच था। भारत इंग्लैंड के खिलाफ इस पांचवी मैच में भी हार गया जिसके कारण अब सीरीज को जीतने का भारत का सपना चूर-चूर हो गया। इंग्लैंड ने भारत के ऊपर जीत हासिल करके सीरीज में 2-2 से बराबरी कर ली है। ऐसे में जसप्रीत बुमराह की कप्तानी और राहुल द्रविड़ की कोचिंग पर सवाल खड़े हो रहे हैं। क्योंकि भारत और इंग्लैंड के बीच इस सीरीज की पहली चार मैच में कप्तान भी कोई और था और कोई भी कोई और।

इंग्लैंड टेस्ट सीरीज को लेकर उठ रहे सवाल

बता देती जब से राहुल द्रविड़ टीम के मुख्य कोच बने हैं सबसे टीम इंडिया का रिकॉर्ड कुछ खास नहीं रहा है। पहले साउथ अफ्रीका के दौरे पर भारत को मिली करारी हार और बाद में घरेलू मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार सभी को चिंतित कर रहे हैं। ऐसे में अब इंग्लैंड के खिलाफ मिली सीरीज में हार भी राहुल द्रविड़ की कोचिंग पर सवाल खड़े कर रहे हैं। इसके साथ ही जसप्रीत बुमराह की कप्तानी पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। इस साल की शुरुआत में ही साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहली मैच जीतकर टीम इंडिया ने उम्मीदें जगाई थी लेकिन इसके बाद लगातार दो मैच हारकर टीम इंडिया ने पूरी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। हालांकि इनमें से एक मैच की कप्तानी के एल राहुल कर रहे थे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ भी खराब प्रदर्शन रहा

जिस तरह से देखा गया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम का जिस तरीके से मैच ड्रा हुआ था और भारतीय टीम आखिर में 1 विकेट भी नहीं ले पाई थी उससे भारतीय टीम के ऊपर काफी ज्यादा सवाल खड़े हो गए थे। ठीक ऐसा ही अब इंग्लैंड के एजबेस्टन टेस्ट में भी देखने को मिला। पहले 3 दिन तक भारतीय टीम ने इंग्लैंड के ऊपर अच्छी खासी पकड़ जमाई रखी थी। लेकिन आखिरी 2 दिन में इंग्लैंड में पूरा नजारा ही बदल कर रख दिया। इंग्लैंड में भारत के ऊपर रिकॉर्ड तोड़ बढ़त हासिल की और सीरीज को 2-2 से बराबर कर लिया। ऐसे में अब फिर एक बार टीम इंडिया की किरकिरी होना काफी लाजमी है।

राहुल द्रविड़ ने किए रणनीति में बदलाव

ऐसे में सीधे-सीधे कोच राहुल द्रविड़ पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं। कोच राहुल द्रविड़ के आने के बाद टीम इंडिया की रणनीति में काफी बदलाव किए गए हैं। इसके साथ ही राहुल द्रविड़ किसी एक स्थिर कप्तान के साथ अभी तक काम नहीं कर पाए हैं। राहुल द्रविड़ के आने के बाद टीम इंडिया रोहित शर्मा, के एल राहुल, जसप्रीत बुमराह और अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में अलग-अलग मैच खेल चुकी है। इसलिए यह भी सोचना काफी लाजमी है कि क्या रवि शास्त्री की कोचिंग में ही टीम इंडिया का परफॉर्मेंस अच्छा रहता था? या फिर राहुल द्रविड़ की कोचिंग पर फिर से एक बार मंथन किया जाना चाहिए।

Leave a Comment