‘प्लीज डोंट बॉयकॉट मेरी फिल्म लाल सिंह चड्ढा’ : आमिर खान

2015 में, आमिर खान ने एक साक्षात्कार में कहा, “हमारा देश बहुत सहिष्णु है, लेकिन ऐसे लोग हैं जो दुर्भावना फैलाते हैं”।

आमिर खान ने ट्विटर पर ‘बॉयकॉट लाल सिंह चड्ढा’ ट्रेंड का जवाब दिया है। आने वाली फिल्म, हॉलीवुड क्लासिक फॉरेस्ट गंप की रीमेक है, जिसे आमिर ने कुछ साल पहले भारत के बारे में की गई टिप्पणियों के लिए सोशल मीडिया पर भारी नफरत मिल रही है। कई लोग फिल्म के बहिष्कार की मांग कर रहे हैं।

लाल सिंह चड्ढा में आमिर एक साधारण, दयालु व्यक्ति की भूमिका में हैं, जिसे मूल रूप से रॉबर्ट ज़ेमेकिस की 1994 की फ़िल्म में टॉम हैंक्स ने निभाया था। हाल ही में एक प्रेस कार्यक्रम के दौरान, श्री खान से बहिष्कार के आह्वान के बारे में पूछा गया, जब उन्होंने कहा, ‘कृपया, मेरी फिल्म का बहिष्कार न करें।’

यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी फिल्मों के खिलाफ इस तरह के अभियान उन्हें परेशान करते हैं, श्री आमिर खान ने जवाब दिया, “हां, मुझे दुख होता है। साथ ही मुझे इस बात का भी दुख होता है कि कुछ लोग जो ऐसा कह रहे हैं, उनके दिल में यह विश्वास है कि मैं कोई ऐसा व्यक्ति हूं जिसे भारत पसंद नहीं है। वे अपने दिल में विश्वास करते हैं, लेकिन यह असत्य है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग ऐसा महसूस करते हैं। वह बात नहीं है। कृपया मेरी फिल्म का बहिष्कार न करें। कृपया मेरी फिल्म देखें।”

ट्विटर पर नेटिज़न्स में से एक ने लिखा, “आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा की टिकट की कीमत 300 रुपये है, फिल्म देखने के बजाय गरीबों को 10 किलो आटा दान करें, आप आशीर्वाद लेंगे।”

एक अन्य यूजर ने सवाल किया, “आप क्या करेंगे? लाल सिंह चड्ढा देखो, गरीबों को खाना खिलाओ।”

अभिनेता के बारे में ऐसे कई ट्वीट्स के साथ-साथ कई अपमानजनक ट्वीट भी इंटरनेट पर वायरल हो रहे हैं।

2015 में, आमिर खान ने एक साक्षात्कार में कहा, “हमारा देश बहुत सहिष्णु है, लेकिन ऐसे लोग हैं जो दुर्भावना फैलाते हैं”। उनकी पत्नी किरण राव ने भी यह कहकर सुर्खियां बटोरीं कि उन्होंने अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए देश छोड़ने पर विचार किया।

प्रिय पाठकों,
एक स्वतंत्र मीडिया प्लेटफॉर्म के रूप में, हम सरकारों और कॉरपोरेट घरानों से विज्ञापन नहीं लेते हैं। यह आप, हमारे पाठक हैं, जिन्होंने ईमानदार और निष्पक्ष पत्रकारिता करने की हमारी यात्रा में हमारा साथ दिया है। कृपया अपना योगदान दें, ताकि हम भविष्य में भी ऐसा ही करते रहें।


Leave a Comment